प्रेशर कुकर फटने का मुख्य कारण ! कैसे बचें - 101gyani

प्रेशर कुकर फटने के कई कारण और गलतियाँ है। खाना बनाते समय अगर प्रेशर कुकर फट जाये तो ऐसे में खाना बनाने वाले का शरीर जल सकता है या फिर उसकी मृत्यु भी हो सकती है। आपने कभी न कभी ऐसा सुना ही होगा की खाना बनाते समय कुकर फट गई और खाना बनाने वाले की मृत्यु हो गयी या फिर जल गई। आज मैं आपको प्रेशर कुकर से जुड़ी वैसे गलतियों के बारें में बताने जा रहा हूँ जो आप करते ही होंगे। प्रेशर कुकर फटने के गलतियों के कारण को जानने के लिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़े ताकि आप समझ सकें।

प्रेशर कुकर फटने का मुख्य कारण : 

1. अपने कुकर की नियमित सफाई करे : कुकर के फटने का एक मुख्य कारण ये भी है कि बहुत से घरों में कुकर के नोजल और सिटी की सफाई ठीक से नहीं की जाती है। कुकर के सिटी और नोजल की सफाई करना बहुत जरूरी है, क्योंकि ये वही रास्ता है जिसके माध्यम से कुकर के अंदर तेज दबाब होने पर प्रेशर कंट्रोल होता है। अब आप जरा ये सोचिए कि, यदि किसी कारण से कुकर के नोजल या सिटी में कचरा फँस जाए और तेज आँच पर चढ़े कुकर में लगातार भाप से दबाब बढ़ता रहे तो इसका परिणाम कैसा हो सकता है ? जब भाप अपनी ताकत से एक ट्रेन के इंजन को हिला सकती है तो, ये तो एक मामूली सा छोटा कुकर ही है। 
how to prevent blast cooker, cooker blast news, cooker ka sahi istemal

इस गलती से बचने के लिए आप सभी से निवेदन है कि आप अपने कुकर की नियमित सफाई करे, खास कर कुकर के नोजल और सिटी का। ऐसा करने से केवल आप ही नहीं बल्कि आप अपने परिवार को भी सुरक्षित रख सकते है। 

2. बिना पानी के कुकर का इस्तेमाल न करे : कुकर का ज्यादातर इस्तेमाल दाल, चावल या सब्जी बनाने के लिए किया जाता है। यहाँ पर इस बात का ध्यान देना बेहद जरूरी है कि, चाहे हम कुकर में कुछ भी पकाये लेकिन पानी की मात्रा कम नहीं होनी चाहिए। आजकल कई ऐसे Recipe बनाए जाने लगी है जिसे बनाने के लिए बहुत कम पानी की जरूरत होती है। 

कम पानी वाले या सूखे कुकर में खाना बनाने से कुकर भाप बहुत ज्यादा बनाता है, जो अंदर के प्रेशर को इतना बढ़ा देता है कि सिटी वाले नोजल उसे कंट्रोल नहीं कर पाता है और कुकर दबाब में फट जाती है। इससे बचने के लिए आप जब भी कुकर को चूल्हे पर चढ़ाये तो उसमें पानी जरूर डालें। 

3. जबरदस्ती कुकर को खोलने से बचें : जब भी कुकर में कोई चीज पक जाए तो कुकर को तुरंत खोलने की कोशिश न करे बल्कि कुकर को चूल्हे से उतारकर नीचे रख दें और उसे थोड़ा ठंडा होने दे। ऐसा करना इसलिए जरूरी है ताकि आप गरम कुकर खोलते समय जल न जाए। हमेशा याद रखे, कुकर के अंदर की भाप हमेशा तेजी से बाहर आने के लिए दबाब में होती है। यदि इसी समय आपने दबाब में कुकर को खोलने की कोशिश की तो न सिर्फ कुकर फटने का खतरा है बल्कि आप बुरी तरह से जल भी सकते है। 

4. कूकर की रबड़ रिंग को हर 3 महीने में बदलें : बहुत से लोग अपने कुकर के रिंग को तब तक नहीं बदलते है जब तक की रबड़ रिंग कट न जाए या फिर उससे भाप लीक होने न लग जाए। यह आदत बहुत ही खतरनाक है। लगातार इस्तेमाल करने से कूकर की रिंग रबड़ घिसने लगता है और इससे न सिर्फ कम प्रेशर की वजह से खाना देर से पकती है बल्कि कुकर के अंदर भाप का हल्का सा भी लीकेज होने के कारण तेज प्रेशर से बाहर निकालकर ये भाप कूकर को फाड़ सकती है। इसलिए आप सभी से अनुरोध है कि ठीक समय पर अपने कुकर के रबड़ रिंग को जरूर बदल दें। 
प्रेशर कुकर कब फटता है, कुकर क्यों फटता है


5. Branded Company के कूकर का इस्तेमाल करे : आजकल मार्केट में ऐसे कई सारे कूकर उपलब्ध है जो दूसरे ब्रांड के कुकर की तुलना में आधे दामों में मिल जाती है लेकिन ये कूकर ना तो अच्छी क्वालिटी की होती है और ना ही ये ISI द्वारा प्रमाणित होता है। सबसे बड़ी बात यह है कि देश में जितने भी कुकर से संबंधित घटनाएँ हो रही है वो किसी लोकल ब्रांड के कुकर के इस्तेमाल से ही हो रही है। इसलिए दोस्तों, आप सभी से निवेदन है कि आप अपने घर में किसी ब्रांडेड कंपनी के कुकर का ही इस्तेमाल करे जो ISI द्वारा प्रमाणित हो। ऐसा कुकर थोड़ा महँगा होता है। 

6. दरारों वाले कूकर का इस्तेमाल न करे : आप सभी लोग एक आदत सा बना ले की जब भी आप खाना बनाते है या खाना बनाने से पहले कूकर को एक बार जरूर चेक कर ले की कहीं इसमें दरारें तो नहीं है। याद रखे की हादसे कभी किसी को बता कर नहीं होती है। 

Standard Guidelines के अनुसार, हर पाँच साल में एक कूकर को बदल देना चाहिए। यहाँ पर कई ऐसे लोग तो बहुत खुश होंगे की ये क्या बोल रहे हो मेरा कूकर तो 10 सालों से इस्तेमाल हो रहा है अभी तक तो कुछ नहीं हुआ। ऐसा नहीं है दोस्तों, जैसे की हमने आपको ऊपर ही बताया है कि हादसे कभी किसी को बता कर नहीं होती है।

मैं आशा करता हूँ की आप सभी को हमारा यह जानकारी पसंद आया होगा। आप भी एक कुकर खरीदने से लेकर उसके इस्तेमाल तक ध्यान देंगे और अपने परिवार के जीवन को सुरक्षित रखेंगे। धन्यवाद ।

2 Comments