कोई इंसान ज्यादा से ज्यादा कितने दिनों तक लगातार जाग सकता है ? General Knowledge in Hindi 2021 | 101 Gyani

Interesting gk in hindi, most vvi gk, rapid mind gk, paheli quiz in hindi


कोई भी इंसान ज्यादा से ज्यादा कितने दिनों तक लगातार जाग सकता है ? इस सवाल का जबाब अगर आप पहले से जानते है तो नीचे कमेंट में लिखकर जरूर बताये। यह एक इंटरेस्टिंग जीके का प्रश्न है जो काफी आसान भी है और काफी हार्ड भी। अगर आपसे कोई ऐसा सवाल अचानक पूछ दे तो आपका क्या रिएक्शन होगा, नीचे कमेंट में लिखकर जरूर शेयर करे। 

कोई भी इंसान ज्यादा से ज्यादा कितनें दिनों तक लगातार जाग सकता है ? 

दोस्तों, इस सवाल का जबाब है - 264 घंटे यानि 11 दिन। कोई इंसान ज्यादा से ज्यादा 11 दिनों तक जाग सकता है यानि की 264 घंटे तक। क्या आप इस सवाल का जबाब पहले से जानते थे, नीचे कमेंट में लिखकर जरूर बताये। आइये अब आपको नींद न आने के कुछ कारन को बताता हूँ। 

आपको बता दें कि, किसी व्यक्ति को स्वस्थ रहने के लिए पर्याप्त नींद लेना आवश्यक है। ऐसा न होने पर हमारे शरीर में कई तरह की कठिनाइयाँ या बीमारियाँ होनी शुरू हो जाती है। नींद न आने की समस्या को अनिंद्रा कहा जाता है। इस समस्या को अंग्रेजी में इनसोमनिया ( insomnia ) कहते है। इन्सोम्निया एक नींद से संबंधित विकार है जिसमे व्यक्ति को सोने में असुविधा, नींद की कमी या फिर नींद न पूरी होने की समस्या रहती है। 

इंसोम्निया को दो भागों में बांटा गया है - एक्यूट इंसोम्निया और क्रोनिक इंसोम्निया।

एक्यूट इंसोम्निया एक आम प्रकार की समस्या है जो कुछ दिनों या हफ़्तों तक के लिए हो सकता है। जैसा की हम जानते है एक्यूट इंसोम्निया एक अनिद्रा रोग का भाग है। इसके होने का कुछ महत्वपूर्ण कारन इस प्रकार है- काम का ज्यादा दबाब, कोई पारिवारिक चिंता, घटना या अन्य समस्याएँ हो सकती है। 

क्रोनिक इन्सोमनिया एक गंभीर समस्या हो सकती है जो महीनो पर या उससे ज्यादा दिनों तक रह सकता है। क्रोनिक इंसोमेनिया किसी अन्य समस्या जैसे की चिकित्सीय स्थितियां, दवाओं के साइड इफेक्ट, या अन्य नींद विकार से हो सकती है। कुछ मामलों में यह समस्या तंबाकू का ज्यादा सेवन करने से भी होता है। इस प्रकार की गंभीर समस्या तनाव या लंबी यात्रा से हो सकती है। 

अनिंद्रा का सबसे मुख्य कारण : 

अनिंद्रा का सबसे मुख्य कारण तनाव या थकावट की नहीं बल्कि ये भी हो सकता है : 
  • प्रतिदिन सोने के समय में बदलाव होना 
  • दोपहर में सोना 
  • सोने की जगह पर अधिक लाइट का होना
  • सोने की जगह पर अधिक शोर होना
  • सोते समय मोबाइल या टीवी उपकरणों का उपयोग करना 
  • धूम्रपान करना 
  • चिंता करना या तनाव करना 
  • रात के समय काम करना 
  • शरीर में कोई परेशानी होने 
  • जीवनशैली में परिवर्तन होना 
  • स्वास्थ्य संबंधी किसी प्रकार की समस्या होने , जैसे की - मधुमेह, हृदयरोग, मोटापा आदि। 

अनिंद्रा का उपचार : 

अनिंद्रा का उपचार मुख्य रूप से किसी व्यक्ति की स्थिति पर निर्भर करता है। कुछ महत्वपूर्ण बातें नीचे बताई गई है - 
  • जीवनशैली में बदलाव करना चाहिए यानि की समय से सोना चाहिए और नियमित रूप से व्यायाम करना चाहिए। 
  • अगर डॉक्टर दवाई देता है तो उसका सेवन नियमित रूप से करना चाहिए। 
  • आप अपने खान-पान में भी बदलाव कर सकते है। 
  • एक खास बात ध्यान रखें, की सोने से पहले ज्यादा खाना का सेवन न करे। 
  • ज्यादा देर तक नहीं सोना चाहिए। एक ही जगह पर लगातार न बैठे रहे। 

वैसे तो इसका उपचार और भी हो सकता है। अगर आपको इसके बारे में कुछ जानकारी हो तो नीचे कमेंट में जरूर लिखें। जिससे लोगों को फायदा पहुँच सके। आप एक बात हमेशा ध्यान रखें कि किसी भी दवा का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। 

ये भी पढ़े : 



Post a Comment